Reports - Year Wise

07 Jul 2018
The Uttar Pradesh Control of Organised Crime Act, 2017 (UPCOCA) was passed on 27 March 2018. The statement of objects and reasons for the law argues that ‘organised crime’ has become a widespread and serious threat and such activities are fueled by illegal wealth, corrupting legitimate businesses and inciting disaffection towards the government. This law is considered to be necessary since...
15 Apr 2018
पी.यू.डी.आर. अपनी रिपोर्ट ‘काओ विजिलांतिज़म : क्राइम, कम्युनिटी एंड लाइवलीहुड, जनवरी 2016 से मार्च 2018’ जारी कर रहा है। इस रिपोर्ट में जनवरी 2016 से मार्च 2018 के बीच घटित गौ रक्षा के नाम पर गुंडागर्दी की घटनाओं का विश्लेषण है। इन गौ-गुंडागर्दी या विजिलांते गतिविधियों को हिंदी एवं अंग्रेजी अखबारों और तथ्यान्वेषी रिपोर्टो के माध्यम से इकट्ठा किया गया है। पी.यू.डी.आर. ने जनवरी 2016 से लेकर अब तक की...
24 Mar 2018
People’s Union for Democratic Rights (PUDR) is releasing its report Cow Vigilantism: Crime, Community and Livelihood- January 2016 to March 2018. The report undertakes an analysis of cow-vigilantism based on data collated from the Hindi and English media and fact finding reports between January 2016 to March 2018. We have documented a total of 137 cases since January 2016, twenty...
19 Mar 2018
PUDR’S report on the Maruti case judgment on the grim anniversary of the court order sentencing workers PUDR is presenting its report ‘A Pre-Decided Case: A Critique of the Maruti judgment of 2017,’ to mark the grim anniversary of the passing of the deeply unjust order by the Sessions Court, Gurugram, Haryana which sentenced 31 erstwhile workers of the Maruti company, 13 of them to life...
05 Feb 2018
मानेसर, हरियाणा का इन्डस्ट्रियल माडल टाउनशिप (आई.एम.टी.) दिल्ली-एन.सी.आर. का जाना माना औद्योगिक क्षेत्र है। औद्योगिक क्षेत्र होने के अलावा, यह क्षेत्र मारुती प्लान्ट के कारण भी मशहूर है। मारुती के मजदूरों का संघर्ष भी प्रचलित रहा है, और यह भी जानी हुई बात है कि हाल में ट्रायल कोर्ट ने 13 मजदूरों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। मारुती कम्पनी के अलावा, इस इलाके में मारुती जैसी ऑटोमोबाइल कम्पनियों...