Skip to main content
HomePage

15 Apr 2018
पी.यू.डी.आर. अपनी रिपोर्ट ‘काओ विजिलांतिज़म : क्राइम, कम्युनिटी एंड लाइवलीहुड, जनवरी 2016 से मार्च 2018’ जारी कर रहा है। इस रिपोर्ट में जनवरी 2016 से मार्च 2018 के बीच घटित गौ रक्षा के नाम पर गुंडागर्दी की घटनाओं का विश्लेषण है। इन गौ-गुंडागर्दी या विजिलांते गतिविधियों को हिंदी एवं अंग्रेजी अखबारों और तथ्यान्वेषी रिपोर्टो के माध्यम से इकट्ठा किया गया है। पी.यू.डी.आर. ने जनवरी 2016 से लेकर अब तक की 137 गौ-गुंडागर्दी (गौ-विजिलांतिज्म) गतिविधियों का लेखाजोखा तैयार किया है। इन घटनाओं में 20 हत्या की वारदाते है जिनमें कुल 29 लोगों की जानें गयीं थीं। यह रिपोर्ट आर.एस.एस.
14 Aug 2017
5 मई 2017 को शब्बीरपुर गाँव, जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश, में राजपूतों द्वारा दलितों पर हमले की एक घटना हुई। इस हिंसा के दौरान एक राजपूत युवक की मृत्यु हो गई थी, 13 दलित लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे, 40 दलित घरों को जला दिया गया था व दलितों की कुछ दुकानों को लूटा और जलाया गया था। मीडिया ने इस हिंसक घटना को राजपूतों और दलितों के बीच हुई हिंसा-प्रतिहिंसा के तौर पर रिपोर्ट किया।
12 Aug 2017
The increasing instances of cow vigilantism and legal interpolations related to beef ban and cow slaughter have been making news from the time Bhartiya Janata Party led Central Government came to power. The overtly communal and casteist agenda of cow protectionism has often resulted in violence on cattle-traders and others involved in the sale, transport or consumption of beef in any way, with the majority of those attacked being Muslims and Dalits.
12 Aug 2017
जब से भारतीय जनता पार्टी की सरकार केंद्र में सत्ता में आई है तब से गौवंश के लिए सतर्कता की बढ़ती घटनाएं और गौ वध आरै गौ मांस (बीफ) बंदी से संबंधित कानूनों से छेड़छाड़ की खबरें लगातार सुर्खियां में हैं। गौ रक्षा के प्रत्यक्ष रूप से सांप्रदायिक व जातीय एजेंडा से होने वाली हिंसा के शिकार अकसर वे लोग हो रहे हैं जो या तो मवेशी व्यापारी हैं या किसी भी तरह बीफ खरीदने, खाने या इसकी ढुलाई करने से जुड़े हैं, इनमें से अधिकांश मुसलमान व दलित हैं। प्रेस में इन भयानक घटनाओं को तो कवर किया जा रहा है लेकिन इस गौ रक्षा आन्दोलन के दूरगामी परिणामों को नजरअंदाज किया जा रहा है, विशेषकर जिस तरह से राज्य के कानून के